सिद्धार्थनगर में राप्ती नदी में नाव पलटी, 11 लोग बचाए गए, एक की मौत Siddhartha Nagar News

0
101

सिद्धार्थनगर जिले के इटवा थाना क्षेत्र के धोबहा ग्रामसभा में पड़ने वाले अमहवा घाट पर कास (मूज) काटकर नाव से वापस आते समय राप्ती नदी में 12 महिलाओं व बच्चों के साथ सवार नाव पलट गई। 11 महिलाओं को किसी तरह बचाया जा सका। इस दौरान 15 वर्षीय एक बालिका तेज बहाव की वजह से लहरों में खो गई। काफी तलाश के बावजूद उसका कोई पता नहीं चला था। 
इटवा थाना क्षेत्र के कलवारी गांव की रहने वाली 12 महिलाएं और बच्चियां नाव से नदी के उस पार गई थीं। वहां पर वह कास काटने गई थी। शाम करीब 5 बजे कास काटकर नाव से वापस आ रही थीं। अमहवा गांव के छोर तक नाव पहुंची ही थी कि अचानक नाव पलट गई, जिससे उसमे सवार सभी लोग नदी में गिर गए। बचाओ-बचाओ की आवाज सुनकर खेत में काम कर रहे अमहवा गांव के निवासी सावर ने जान पर खेल नदी में छलांग लगा दी और डूबते लोगों को बचाने का प्रयास करने लगा। इसी बीच गांव के कुछ और भी लोग नदी में कूद गए और एक-एक कर 11 लोगों को नदी में डूबने से बचा लिया। लेकिन नदी के तेज बहाव में कलवारी की ही 15 वर्षीय लड़की फरहाना पुत्री अब्दुल रऊफ बहकर आगे निकल गई जिसे लोगों द्वारा बचाने का प्रयास किया गया लेकिन वह नदी के बहाव में समा गई। सूचना शाहपुर चौकी इंचार्ज अर्जुन सिंह को मिली तो अपने हमराही के साथ घटनास्थल पर पहुंचे और गोताखोरों के जरिए से लड़की को खोजने का प्रयास करने लगे। 
सावर ने बताया कि ये महिलाएं अमहवा गांव में दोपहर 12 बजे आई थी और नदी के उस पार नाव के सहारे कास काटने के लिए गई थी कि अचानक लौटते समय नाव पलट गई जिसकी वजह से सभी लोग डूबने लगे 11 लोगों को बचा लिया गया पर एक लड़की को नहीं बचा पाए। लापता लड़की के परिवार वालों का रो-रो कर बुरा हाल है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here