सात दिन पहले ही सील हो जाएगी अंतर्राष्ट्रीय सीमा

0
45

सिद्धार्थनगर। लोकसभा चुनाव को लेकर इस बार चुनाव आयोग ने कड़ा रुख अख्तियार किया है। मतदान किसी भी प्रकार से प्रभावित न होने पाए, लिहाजा अंतरराष्ट्रीय सीमा पर विशेष निगाह रखने के निर्देश तो दिए ही गए हैं। साथ ही पहली बार चुनाव से सात दिन पहले ही अंतरराष्ट्रीय सीमा सील करने के निर्देश दिए गए हैं। जिससे की लोकसभा चुनाव में कोई व्यवधान न उत्पन्न हो। बता दें कि जिले में छठवें चरण में चुनाव है और 12 मई को मतदान होना है।

भारत-नेपाल सीमा पर बसे इस जिले की 68 किलोमीटर सीमा पूरी तरह से खुली है। दोनों देशों के नागरिक बिना किसी रोकटोक के आते-जाते हैं। लेकिन पिछले कुछ सालों से भारत नेपाल सीमा सुर्खियों में है। सीमा क्षेत्र के कुछ आतंकी संगठन से जुड़े संदिग्धों के पकड़े जाने के बाद जिले की चर्चा पूरे देश भर में हो चुकी है। ऐसे में लोकसभा चुनाव में कोई व्यवधान न उत्पन्न हो।

लिहाजा इस बार भारत नेपाल की सीमा लोकसभा चुनाव से एक सप्ताह पहले ही सील करने के निर्देश जारी किए गए है। सुरक्षा के लिहाजा से केंद्रीय जांच एजेंसिया बॉर्डर पर एक्टिव रहेंगी। साथ ही पुलिस की टीम भी बॉर्डर के इर्द-गिर्द निगाह रखेगी। जबकि पहले आम चुनाव में मतदान के 24 व 48 घंटे पहले सीमा सील की जाती थी। इसका उद्देश्य था कि मतदान के दिन कोई बाहरी व्यक्ति चुनाव को प्रभावित न कर सके। इस संबंध में एसपी डॉ. धर्मबीर सिंह ने बताया कि भारत-नेपाल सीमा को मतदान को देखते हुए सात दिन पहले सील करने का आदेश आया है। आयोग के आदेशों का पालन किया जाएगा।

इन दिनों में सील होती है सीमा
देश व प्रदेश में होने वाले आम चुनाव जैसे लोकसभा, विधानसभा में मतदान के 24 व 48 घंटे पहले भारत- नेपाल सीमा को सील किया जाता था। पहली बार ऐसा हुआ है कि सात दिनों तक सीमा सील करने के आदेश आयोग ने जारी किए है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here