उत्तर प्रदेश कैबिनेट मंत्री के गृह जनपद में पूरे दिन बिजली गुल

हमेशा अपडेट रहने के लिए आप हमारे ऐप को डाउनलोड कीजिए..... यहां क्लिक कीजिए

बांसी (दुर्गेश मूर्तिकार): बिजली विभाग के अधिकारियो की लापरवाही का खामियाजा आमआदमी को झेलना पड़ रहा है l
33के वी ए सब स्टेशन  बांसी में तैनात संविदा ऑपरेटर मानदेय का भुगतान न पाने से के अनिश्चित कालीन हडताल पर बैठ जाने जाने से शुक्रवार को पूरे दिन बांसी के लोग बिजली को लेकर बुरी तरह से परेशान रहे। इस भीषण गर्मी में लोगों के घरों के पानी की टंकी सूख गयी तथा सभी विद्युत उपकरण शोपीस साबित हुए।
धरने पर बैठे संविदाकर्मियों का कहना है कि जुलाई 2016 से लेकर 30 नवम्बर 2016 के मानदेय के बकाये का भुगतान नही किया जा रहा है। इधर दिसम्बर 2017 से लेकर अप्रैल 2018 तक का भी भुगतान नही मिला। कुल मिलाकर दस माह का बकाया भुगतान न मिलने से उनके समक्ष परिवार के भरण पोषण की समस्या पैदा हो गयी है। साथ ही संविदा कर्मियों को ईपीएफ,इंश्योरेंस,तथा आईडी कार्ड देने में भी हीलाहवाली की जा रही है। लोगों का यह भी कहना रहा है कि विगत सप्ताह जब इन लोगों ने धरना दिया था तो सारी समस्या का समाधान करने का आश्वासन दिया गया था जिस पर इन संविदाकर्मियों ने अपनी भूख हडताल वापस ले ली थी। पर अधिकारियों ने किसी भी समस्या का समाधान नही किया। जिसके चलते विवश होकर अनिश्चितकालीन हडताल पर दोबारा जाना पडा। शुक्रवार से हडताल करने के कारण पूरे दिन बांसी शहर के लोग बिजली के न मिलने से बुरी तरह से हलकान रहे। पर कोई भी जिम्मेदार अधिकारी धरना स्थल जाने की जहमत नही उठाई। जिससे न संविदाकर्मियों को कोई आश्वासन मिला तथा न ही बिजली आपूर्ति ही बहाल हो सकी। किसी तरह से शाम साढे चार बजे बिजली आपूर्ति हुई। शुक्रवार को धरने पर बैठने वालों में अखिल मोहन, कमलेश्वर उपाध्याय,उमेश पाण्डेय,संतोष श्रीवास्तव, सौमित्र सहाय श्रीवास्तव,अजय कुमार आदि लोग रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *