शोहरतगढ़ चेयरमैन पुत्र सौरभ गुप्ता पर लगा मनमानी करने का आरोप

हमेशा अपडेट रहने के लिए आप हमारे ऐप को डाउनलोड कीजिए..... यहां क्लिक कीजिए

शोहरतगढ़: नगर पंचायत में सभसदो ने नगर पंचायत अध्यक्ष बबिता कसौधन उनके प्रतिनिधि और पति हिन्दू युवा वाहिनी के देवी पाटन मण्डल प्रभारी सुभाष गुप्ता तथा उनके पुत्र सौरभ गुप्ता के ऊपर गंभीर आरोप लगते हुऐ तीनो लोगो के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है।
दिनांक 22 मई को को नगर पंचायत की तरफ से नगर में विभिन्न कार्यो हेतु लगभग 21 लाख का टेण्डर कुछ समाचार पत्रो में जरी किआ गया ।इसकी सूचना मिलते ही सभासद बिफर पड़े उन्होंने आरोप लगाया क़ि टेण्डर , सभासदों को बिना विश्वास में लिए उनकी बिना सहमति और बिना जानकारी के मनमाने तरीके से जारी किया गया जबकि ये टेण्डर पुरानी कार्यकारणी के समय का है जोकि भंग हो चुकी है और नई कार्यकारणी का गठन हो चूका है और 22 जनवरी को नगर पंचायत के बोर्ड की पहली बैठक में सभी सभसदो में आपसी सहमति के आधार पर पुराने कार्यकारणी के सभी फैसलो को नकार दिया गया था और नए प्रस्ताव के आधार पर कार्य करने की सहमति बनी थी ,परंतु सभासदों ने आरोप लगाया है क़ि हमे बिना सूचना दिए या फिर विश्वास में लिए मनमाने तरीके से पुराने कार्यो के लिए टेन्डर ज़ारी कर दिया गया और अपने चहेते ठेकेदारों का लाइसेन्स रिन्युअल करके उन्हें ठेके देने की तैयारी हो रही है। इसकी जानकारी होते ही सभसद भौचक्के रह गये और उनके अंदर आक्रोश पनपने लगा और इसी क्रम में उन्होंने नगरपंचायत कार्यालय से इस बाबत जानकारी मांगी तो कार्यालय द्वारा इंकार कर दिया और नगर पंचायत अध्यक्षा से सम्पर्क करने को कहा ।इसके पश्चात् सभासदों ने अध्यक्षा और उनके प्रतिनिधि पति से सम्पर्क किया परन्तु वहाँ भी उन्हे संतुष्ट नहीं किया गया तब सभासद लामबंद हो गए और दस मे से नौ सभसदो ने जिलाधिकारी को एक शिकायती पत्र पर हस्ताक्षर एवं मुहर करके जिलाधिकारी को ज्ञापन देने पहुँचे जहां पहले से मौजूद हिन्दू युवा वाहिनी के देवी पाटन मण्डल प्रभारी सुभाष गुप्ता अपने दो दर्जन समर्थको से साथ मौके पर मौजूद चार सभसदो को जिलाधिकारी से मिलने से रोकने का प्रयास किया परन्तु जिलाधिकारी कार्यालय पर मौजूद सुरक्षा कर्मियो ने चारो सभसदो को सुरक्षित स्थान पर पहुंचाया परन्तु सुभाष गुप्ता अपने समर्थको के साथ जिलाधिकारी कार्यालय से थोड़ी दूर जमे रहे और सभसदो को धमकाते रहे ,गाली गलौज करते रहे किसी को स्मैक ,किसी को रासुका तथा किसी को हत्या के मामले में फ़साने की धमकी देते रहे और अपनी सरकार होने की धौस और योगी सरकार का भक्त होने की धौस देते हुए देख लेने की धमकी दो घण्टे तक देते हुए जिलाधिकारी कार्यालय के बाहर डटे रहे और एक बार कार्यालय के अंदर भी गए ।अंत में सभसदो ने जिलाधिकारी को अपना ज्ञापन सौपा और भयभीत सभासद एडीशनल एस पी के पास जाकर पुरे मामले की जानकारी देते हुए सुभाष गुप्ता ,उनके पुत्र सौरभ गुप्ता तथा उनके अज्ञात पार्टी समर्थको के खिलाफ विरुद्ध लिखित शिकायती प्रार्थना पत्र दिया। उसके पश्चात सभसदो ने रास्ता बदल कर वापस शोहरत गढ़ पहुचे और शाम को आठ बजे प्रैस मीटिंग किया और सारे मामले की जानकारी देते हुए अपने साथ हुए दुर्व्यवहार की जानकारी मीडिया कर्मियों को दी।
सभासदों ने नगर पंचायत पर मनमाने तरीके से कार्य करने के आरोप लगाते हुए नगर पंचायत अध्यक्षा , उनके प्रतिनिधि पति सुभाष गुप्ता और इनके पुत्र सौरभ गुप्ता पर परिववाद का आरोप लगाते हुए मनमाने तरह से नगर पंचायत कार्यालय का प्रयोग निजी कार्यो के लिए करने का आरोप लगाया।
उनके पुत्र सौरभ गुप्ता ने इक्कीस मई को आँगन वाडी कार्यकत्रियों की मीटिंग नगर पंचायत के अध्य्क्ष कार्यालय में बुलाई थी जिससे सभसदो में रोष है।की सौरभ गुप्ता ने किस हैसियत से कार्यालय का उपयोग किया साथ ही कार्यालय के कर्मचारियों पर इस परिवार में कार्य करने तथा भरष्टाचार में लिप्त होने का आरोप लगते हुए वरिष्ठ तथा कनिष्ठ लिपिक के तबादले की मांग जिलाधिकारी  से की हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *