मिट्टी खुदाई में घपले की आशंका, जांच के लिए पत्र

0
22

चारागाह और ताल की जमीन पर कर लिया अवैध खनन

– प्रशासन की शह पर चल रहा था अवैध खनन
– स्थानीय राजस्व की टीम ने मामले में साधी चुप्पी
– पुलिस को आता देख खनन माफिया मौके से हुआ फरार

सिद्धार्थनगर। राष्ट्रीय राजमार्ग के निर्माण में मिट्टी पटाई को लेकर बड़ा खेल हो रहा है। ग्राम पंचायत चारागाह व सरकारी ताल में खनन माफिया मिट्टी की खुदाई कराकर भविष्य में मनरेगा में दिखाकर सरकारी धन के बंदरबांट करने की साजिश रच रहा था। जिसे शिकायत के बाद प्रशासन ने रुकवा दिया है। मामले में नौगढ़ पुलिस चौकी ने चार डंफर, एक पोकलैंड मशीन और एक जेसीबी अपने कब्जे में लेते हुए दो ड्राईवर को हिरासत में लिया है।

जिला मुख्यालय से सटे बर्डपुर नंबर 14 निवासी मो. रफीक ने उपजिलाधिकारी सदर को दिए शिकायती पत्र में आरोप लगाया कि बर्डपुर नंबर 14 में ग्राम सभा के लमतिहवा में एक ताल और चारागाह की जमीन है। यहां से एनएच मार्ग के निर्माण के मिट्टी सप्लायर द्वारा खनन माफिया व पूर्व प्रधान मिलकर भारी मात्रा में मिट्टी निकाल रहे है। ग्राम प्रधान की मानसिकता के अनुसार वर्तमान में निकाली गई मिट्टी भविष्य में मनरेगा से कुछ मजदूरों के द्वारा दिखाकर सरकारी धन का बंदरबांट करने की मंशा छुपी है।

रफीक ने लिखा है कि जांच में ताल और चारागाह की निकाली गई मिट्टी कितनी घन मीटर है, इसका उल्लेख होने से मनरेगा के तहत अवैध भुगतान न होने की संभावना कम रहेगी। उन्होंने उप जिलाधिकारी से कार्रवाई का अनुरोध किया है। शिकायत के बाद एसडीएम उमेश चंद्र निगम ने जांच की जिम्मेदारी कानूनगो को दी है। कानूनगो राजस्व टीम के साथ मौके पर पहुंची। टीम को आता देख खनन माफिया मौके से फरार हो गया। इस बीच टीम ने चार डंफर, एक पोकलैंड मशीन और एक जेसीबी को कब्जे में लेकर नौगढ़ चौकी को सुपुर्द कर दिया है।

पूछताछ में यह बात भी सामने आई है कि खनन माफिया प्रशासन के गठजोड़ से काफी दिनों से मिट्टी खनन का अवैध धंधा करता है। लेकिन प्रशासन उस पर अपनी रहमो करम बरसाए हुए था। एसडीएम उमेश चंद्र निगम ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। मामले में केस दर्ज कराया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here