मोदी के नाम पर फेसबुक से हो रही डेटा चोरी- फोटो लगा, कर रहे गुमराह

0
42

लखनऊ:(राज कमल त्रिपाठी) अभी हाल ही में फेसबुक से डेटा चोरी का मामला बड़े जोर शोर से सभी प्रमुख समाचार पत्रों का हेडलाइन बना हुआ था| डेटा चोरी के मामले में एक विदेशी कम्पनी कैम्ब्रिज एनालिटिका के सम्बन्ध कांग्रेस से बताये जा रहे थे| इस मामले को गंभीरता से लेते हुए फेसबुक के सीईओ जुकरवर्ग ने भी डेटा की सुरक्षा को लेकर कड़े कदम उठाने की बात की थी, किन्तु अभी भी डेटा चोरी की इस गतिविधि में लिप्त कई कम्पनियाँ हमारी निजी जानकारियाँ चोरी कर रही हैं| हमारी पसन्द नापसंद की जानकारी लेने के लिए राजनैतिक पार्टियाँ भी खुद भी इस तरह के सर्वे चलाते हैं, “मुख्यमंत्री के रूप में आपकी पहली पसंद कौन है?” “कौन सी पार्टी को आप ज्यदा पसंद करते हैं ?” आदि प्रश्न के माध्यम से हमारी पसन्द नापसंद का हिसाब रखते हैं| चुनाव के दौरान ये पार्टियाँ हमारे पसन्द नापसंद के अनुसार हमें प्रभवित करने की कोशिस करती हैं|


फ्री शब्द और नामी चेहरे दिखाकर करते हैं गुमराह

आए दिन फ्री रिचार्ज, फ्री मोबाईल, फ्री सोलर पैनेल और फ्री जीवन बीमा जैसे भ्रामक शब्द के साथ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की फोटो लगा कर लोगों को गुमराह करने वाले पोस्ट चलाए जा रहे हैं इस तरह के पोस्ट करने वाली ये कम्पनियां फेसबुक पर बड़े पैमाने पर स्पोंसर एड भी चलाते हैं ऐसे में इन लुभावने और भ्रामक प्रचार में फंस कर फेसबुक यूजर अपनी निजी जानकारी इन कम्पनियों को दे देते हैं| ये कम्पनियां इस डेटा का इस्तेमाल विभिन्न प्रकार से करती हैं|

क्या इस पोस्ट का भाजपा से है सम्बन्ध
प्रधानमंत्री के नाम पर चलने वाला एक ऐसा ही पोस्ट आपके फेसबुक वाल पर देखने को मिल सकता है| माई इण्डिया के नाम से बने एक फेसबुक पेज के माध्यम से मुफ्त जीवन बीमा योजना के नाम से चल रहे स्पोंसर एड में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की फोटो भी लगी है| “मुफ्त जीवन बीमा योजना जीवन भर के लिए” टैग लाइन के साथ www.narendramodi.in नाम की एक वेबसाइट का लिंक दिया गया है और साथ में अप्लाई करने का एक बटन बना है| इस बटन पर क्लिक करते ही एक अन्य वेबसाइट www.yojna-modi.com खुल जाती है जहाँ पर मोदी जी की फोटो के साथ कुछ आसान से 5-6 प्रश्न पूछने के बाद आपका निजी डेटा माँगा जाता है| आपकी निजी जानकारी भरने के बाद इसे अपने 10 मित्रों को शेयर करने की बात की जाती है| शेयर करने के बाद धन्यवाद का एक मैसेज आपके स्क्रीन पर आ जाता है| इस तरह से आपकी निजी जानकारी जाती ही ही है साथ ही साथ आपके दोस्तों को भी अगला टारगेट बनाया जाता हैं|

ऐसे में बात आती है कि क्या मोदी जी फोटो लगा कर बीजेपी हमारी निजी जानकारियाँ चुरा रही है या बीजेपी की सह पर कोई अन्य निजी कम्पनी हमें ठगने में लगी है| इस तरह की गतिविधियों को नजरंदाज करना केंद्र सरकार को सक के घेरे में खड़ा करता है|

फेसबुक से कैसे चोरी होती है हमारी निजी जानकारी

इस बारे में जानकारी देते हुए आई टी एवं डिजिटल मीडिया एक्सपर्ट राज कमल त्रिपाठी ने बताया कि डिजीटल होती इस दुनिया में सोशल मीडिया पर प्रोफाइल होना एक स्टेट्स सिम्बल बन गया है| व्हाट्स एप और फेसबुक पर पोस्ट करना और पढ़ना लोगो की दिनचर्या में शामिल हो गया है| ऐसे में कई निजी कम्पनियां सोशल मिडिया पर आपकी गातिविधियों पर नज़र रखती हैं| फेसबुक पर कई सारे पोस्ट ऐसे मिल जाएंगे जिसमे आपके बारे में पूछने वाले क्विज चलाए जाते हैं जैसे “जाने आप पिछले जन्म में क्या थे ?”, “आपका चेहरा किस अभिनेता से मिलता है? “, आदि | जैसे ही आप यह जानने के लिए उस क्विज वाले लिंक पर क्लिक करतें हैं आपके द्वारा फेसबुक पर पहले से सुरक्षित की गई निजी जानकारियाँ इन कम्पनियों के पास भेज दी जाती हैं| कई राजनैतिक दलों ने अपना खुद का आई टी सेल बना रखा है जो इस तरह के सर्वे कर हमारी निजी जानकारियों का इस्तेमाल चुनाव में करते हैं| क्या हमारा डेटा चोरी करने वाली कम्पनियों के बारे में जाना जा सकता है? इस सवाल का जबाब देते हुए राज कमल त्रिपाठी ने बताया कि ऐसी कम्पनिया बड़े ही चालाकी से अपना नाम और पता गुप्त रखती हैं किन्तु वेबसाइट रजिस्टर्ड करने वाली कम्पनीयों से इनकी पूरी जानकारी हासिल की जा सकती है जहाँ से ये अपना वेबसाइट रजिस्टर करती हैं|
डेटा चोरी होने से बचने का उपाय बताते हुए राज कमल त्रिपाठी ने कहा कि सावधानी बरत कर हम अपनी निजी जानकारी चोरी होने से बचा सकते हैं| फेसबुक में कई साडी ऐसी सिक्योर्टी सेटिंग्स हैं जो आपकी निजी जानकारी को सुरक्षित करती हैं| इसके अलावा किसी भी फ्री रिचार्ज, फ्री डेटा के चक्कर में ना पड कर किसी अनजान लिंक पर क्लिक न करें| अपना बैंक अकाउंट, क्रेडिट कार्ड आदि की जानकारी साँझा करने से पूर्व उस वेबसाइट की विश्वसनीयता परख लें| http:// की जगह https:// वाली वेबसाइट सुरक्षित साईट है इस पर भी ध्यान दें| वेबसाइट खोलने के बाद एक बार उसके यु आर एल पर ध्यान जरुर दें|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here