दस दिन में घर पहुंचेगा डीएल, नहीं लगेंगे शुल्क

2
40

सिद्धार्थनगर: नई व्यवस्था के तहत अब ड्राइविग लाइसेंस (डीएल) का प्रिट जनपद के एआरटीओ में नहीं बल्कि लखनऊ आरटीओ कार्यालय से होगा। यह व्यवस्था देश में शनिवार से लागू हो जाएगी। आवेदक के पास दस दिन में उनके घर कार्ड पहुंचेगा। लिफाफे का खर्च भी नहीं देना होगा। समय से लाइसेंस नहीं पहुंचा पाने पर नामित एजेंसी को पांच रुपये प्रतिदिन प्रति कार्ड जुर्माना देना होगा।

भारत सरकार ने एक मार्च 2019 को मोटरयान अधिनियम में संशोधन करते हुए डीएल की एक रूपता का डिजाइन तय करते हुए दिशा-निर्देश जारी किए हैं। शनिवार यानी 30 मार्च से नई ड्राइविग लाइसेंस प्रक्रिया शुरू होगी। एआरटीओ आशुतोष कुमार शुक्ल ने बताया कि परिवहन आयुक्त कार्यालय लखनऊ से ही डीएल प्रिट होंगे। आवेदक को सीधे घर पर भेजा जाएगा। इससे हाथ के हाथ लाइसेंस जारी होने की प्रक्रिया पर रोक लगेगी।

खासियत

आसमानी रंग नए डिजाइन के डीएल पैन कार्ड जैसा लिफाफे पर सुरक्षा टिप्स दर्शाए गए हैं। इमरजेंसी के लिए डीएल में परिजनों का मोबाइल नंबर दर्ज होगा। दिव्यांगजनों को जारी लाइसेंस में उनकी गाड़ी का नंबर भी दर्ज होगा,यानी वह वही गाड़ी चला सकेंगे। एलपीजी,पेट्रोल, डीजल आदि ज्वलनशील पदार्थो से चलने वाले वाहनों को चलाने के लिए लाइसेंस में वैधता दर्शायी जाएगी। इंडिया पोस्ट से डीएल घर पहुंचेगा।

बधाई संदेश भी

घर पहुंचने वाले इस डीएल के साथ यातायात नियमों की जानकारी देते हुए आवेदक को जिम्मेदारियों का बोध कराते हुए बकायदा एक बधाई संदेश भी भेजा जाएगा।

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here