पांच माह पहले दरिदों ने मां की हत्या कर दी थी, दरिदों ने बीते सोमवार को बेटी को उठा लिया

0
16

सिद्धार्थनगर: पांच माह पहले दरिदों ने मां की हत्या कर दी थी। उसका कंकाल ककरहवा जंगल में मिला था। हत्या की गुत्थी अभी तक सुलझ नहीं सकी है। उसी अंदाज में दरिदों ने बीते सोमवार को बेटी को उठा लिया। इस घटना के बाद क्षेत्र में सनसनी फैल गई और पुलिस के हाथपांव फूलने लगे। दो लोगों के पास से किशोरी को छुड़ा तो लिया है, लेकिन सियासी दबाव के चलते पुलिस अब कहानी बदल रही है। किशोरी किन परिस्थितियों में घर से उठाई गई? उसके साथ कौन-कौन थे। इसका जबाव पुलिस के पास नहीं है।

ककरहवा कस्बा से एक किशोरी के अगवा होने के बाद परिजन पहले उसे खुद के स्तर पर खोजते रहे, नहीं मिलने पर पुलिस को इत्तला किया। पुलिस भी तेजी दिखाते हुए दो लोगों के पास से उसे मुक्त करा लिया, लेकिन उन दोनों को बचाव के मुद्रा में भी पुलिस आ गई है। इन्हीं हालात में किशोरी की मां संजू भी 12 नवंबर की रात में अगवा की गई थी। एक माह बाद 13 दिसंबर को उसका कंकाल नेपाल सीमा के पास जंगल में बोरे में मिला था।

साड़ी व चूड़ियों से शव की शिनाख्त हुई थी। पुलिस ने पिता की तहरीर के आधार पर पति को आरोपित किया था। मां व बेटी के गायब होने के हालात कमोबेश एक जैसे होने से कस्बा में सनसनी फैल गई थी। प्रभारी पुलिस चौकी ककरहवा पप्पू सिंह यादव ने कहा कि किशोरी के गायब होने की सूचना पर पुलिस हरकत में आ गई थी। किशोरी को खोज लिया गया है। वह मौसी के घर पर मिली थी। तहरीर मिलने पर पुलिस कार्रवाई करेगी। फिलहाल पिता के आने का इंतजार हो रहा है, अगर तहरीर पड़ती है तो पुलिस कार्रवाई भी करेगी, लेकिन किसके खिलाफ? यह उसे खुद नहीं मालूम।

पुलिस ने दो लोगों को हिरासत में लिया है। पिता के संरक्षण में किशोरी को सौंपा जाएगा। अगर तहरीर मिलती है तो आरोपितों के खिलाफ कार्रवाई भी की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here