रेलवे ने दी पांच जिलों के लोगों को बड़ी राहत

हमेशा अपडेट रहने के लिए आप हमारे ऐप को डाउनलोड कीजिए..... यहां क्लिक कीजिए

पूर्वोत्तर रेलवे के गोरखपुर-गोंडा वाया बढनी रेल खंड पर महराजगंज के आनंदनगर व लेहड़ा रेलवे स्टेशन के बीच बरगाहपुर गांव के पास स्थित अनमैंड रेलवे समपार फाटक को भूमिगत मार्ग बनाकर रेलवे ने पांच जिलों के लोगों को बड़ी राहत दी है। लगभग दो करोड़ की लागत से एक वर्ष में बनकर तैयार हुआ यह रास्ता लोगों के आवागमन के लिए खुल गया है। बरडाड गांव से बरगाहपुर गांव के पास लेहड़ा-फरेंदा मार्ग में मिलने वाले इस सड़क की लंबाई लगभग चार किलोमीटर है। जिसमें से दो किलोमीटर सड़क पिच हो गई है, शेष मार्ग अभी कच्चा ही है लेकिन अंडर पास के उत्तरी छोर से मुख्य मार्ग तक लगभग तीन सौ मीटर मार्ग न हो पाने के कारण यह मार्ग केवल पैदल व दुपहिया वाहनों के ही प्रयोग में आ पा रहा है। जिससे दो करोड़ की लागत से बने इस अंडरपास का समुचित लाभ स्थानीय लोगों को नही मिल पा रहा है।
चकबंदी विभाग दे रास्ता तो आसान हो सफर
चार किलोमीटर लंबे इस मार्ग के बन जाने से यह एक बाईपास का काम करेगा जिससे गोरखपुर, संतकबीर नगर, बस्ती, सिद्धार्थनगर के साथ ही महराजगंज जनपद के लोगों को धानी, मेंहदावल, बांसी, उस्का बाजार सहित अन्य जगह की यात्रा सुखद व आसान होगी। इसके लिए महज तीन सौ मीटर का रास्ता मुख्य मार्ग से अंडर पास के उत्तरी छोर तक करना है ।
जनप्रतिनिधि दें ध्यान तो बदले सूरत : बरगाहपुर गांव के ग्राम प्रधान से लगायत क्षेत्रीय विधायक व सांसद पहल करें तो तीन सौ मीटर सड़क बनाकर अंडर पास को मुख्य मार्ग से  किया जा सकता है। हालांकि ग्राम प्रधान मीरा देवी ने कहा कि उक्त मार्ग को मुख्य मार्ग से करने के लिए चकबंदी विभाग के अधिकारियों से कई बार लिखित रूप से अवगत कराया गया पर अब तक कोई कार्रवाई नही हो सकी।
युवाओं के लिए बना सेल्फी प्वाइंट
यह अंडरपास इन दिनों स्थानीय लोगों व बाहर से प्रसिद्ध शक्ति पीठ लेहड़ा देवी मंदिर आने वाले श्रद्धालुओं के बीच सेल्फी प्वाइंट व आरामगाह के रूप में खूब पसंद किया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *