सावधान झोलाछाप डॉक्टरों की भरमार जो आम जनता की गाढ़ी कमाई पर डाका

हमेशा अपडेट रहने के लिए आप हमारे ऐप को डाउनलोड कीजिए..... यहां क्लिक कीजिए

बांसी  नगर और आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में झोलाछाप डॉक्टरों की भरमार हो गई है जो आम जनता की गाढ़ी कमाई पर वे डाका डाल रहे हैं और भोली भाली जनता के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़  कर रहे हैं l हालत यह है कि कई ऐसे नर्सिंग होम है जो बिना पात्रता के बड़ी से बड़ी बीमारी का इलाज तो कर ही रहे है ऑपरेशन भी कर रहे l यही नहीं नगर में कई अवैध अल्ट्रासाउंड सेंटर चल रहे है जो आम आदमी का शोषण कर रहे हैं और गलत जानकारी देकर हलाकान कर रहे है l बांसी क्षेत्र चिकित्सा सुविधा के मामले में काफी पीछे है तथा यहां का  सरकारी उच्चीकृत चिकित्सालय बसंतपुर मे है जो काफी दूर होने  और यहा चिकित्सीय सुविधाओं के अभाव से निरर्थक साबित हो रहा है l यही हाल बांसी नगर में स्थित प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र का है यहां भी स्वास्थ्य सुविधाओं का अभाव है इसी का लाभ झोला छाप डाक्टर उठा रहे है l   बांसी के निवासी विकास चन्द्र कौशिक का कहना है कि क्षेत्र में योग्य चिकित्सकों की कमी होने का फायदा ऐसे झोलाछाप डॉक्टर उठा रहे है जिससे जनता की गाढ़ी कमाई ,समय और स्वास्थ्य की बर्बादी हो रही है l नगर निवासी अधिवक्ता बी एन अग्रहरी का कहना है कि ऐसे झोलाछाप डॉक्टरों के विरुद्ध विभागीय कार्यवाही न होने से  यह अवैध धंधा फलफूल रहा है और यहां की भोली-भाली जनता मूर्ख  बन रही है lअधिवक्ता दुर्गेश चंद्र द्विवेदी का कहना है कि चिकित्सा विभाग के अधिकारियों से मिलीभगत के कारण ही झोलाछाप डॉक्टरो  का धंधा फल फूल रहा है ऐसे में यदि यहां से झोलाछाप डॉक्टरों ने अपना धंधा नहीं हटाया तो प्रदेश के उच्च अधिकारियों से उनकी शिकायत की जाएगी !
नगर निवासी व्यवसायी संजय वर्मा  का कहना है कि ऐसे चिकित्सक अपने बोर्ड पर विभिन्न प्रकार की डिग्रियों का उल्लेख किए रहते हैं जो की पूरी तरह से फर्जी होते हैं तथा यदि उनके डिग्रियों का जांच पड़ताल कराया जाए तो कदाचार के तमाम मामले जनता के समक्ष स्पष्ट हो जाएंगे ! कुछ भी हो यहां की शिक्षित जनता ने  जनप्रतिनिधियों से ,चिकित्सा विभाग के उच्च अधिकारियों से मांग किया है कि ऐसे झोलाछाप डॉक्टरों के डिग्रियों की जांच पड़ताल कराई जाए ,उनके द्वारा चलाए जा रहे नर्सिंग होम की भी जांच कराई जाए तथा नर्सिंग होम के मानक व नियमों कानूनों की जांच कानूनी तौर पर अवश्य कराई जाए जिससे कि योग्य एवं वैध  चिकित्सक ही  मरीजों का इलाज कर सके तथा जनता के साथ किसी प्रकार का खिलवाड़ न हो सके  !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *