सिद्धार्थनगर सेवानिवृत्त कर्मचारी और पत्नी की हादसे में मौत

0
27

सिद्धार्थनगर। जिला अस्पताल में पत्नी के इलाज के लिए जा रहे सेवानिवृत्त कर्मचारी और उनकी पत्नी की ट्रैक्टर की चपेट में आने से मौत हो गई। हादसा मंगलवार की शाम पांच बजे शहर के अशोक मार्ग पर जेल के सामने हुआ। हादसे के बाद पुलिस ने ट्रैक्टर-ट्रॉली को कब्जे में ले लिया है। वहीं, शव को पोस्टमार्टम भेजकर मामले की जांच शुरू कर दी है।

सदर थाना क्षेत्र के भीमापार गांव निवासी गौरी शंकर (62) विकास विभाग में लिपिक पद से तीन माह पूर्व सेवानिवृत्त हुए थे। वह शहर के शिवपुरी कॉलोनी में मकान बनवाकर रहते थे। बताया जा रहा है कि पत्नी कोमली देवी (52) की तबीयत खराब थी। मंगलवार की शाम तकरीबन पांच बजे बाइक से पत्नी को लेकर जिला अस्पताल लेकर जा रहे थे। अभी वह अशोक मार्ग पर पहुंचे थे कि अनियंत्रित ट्रैक्टर-ट्रॉली ने बाइक को चपेट में ले लिया। हादसे में गौरीशंकर की मौके पर ही मौत हो गई। इस बीच आसपास के लोग आनन-फानन दोनों को जिला अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने कोमली देवी को मृत घोषित कर दिया। सूचना पर एसओ सदर डीसी चौधरी पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचे। इसके बाद शव का पंचनामा करके पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। साथ ही ट्रैक्टर-ट्रॉली को भी कब्जे में लिया है। एसओ डीसी चौधरी ने बताया कि शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। वाहन कब्जे में है, तहरीर मिलने के बाद मामले की जांच करके कार्रवाई की जाएगी।

कुंभ से लौट रहे बुजुर्ग की ट्रेन से कटकर मौत

शोहरतगढ़। थाना क्षेत्र के कोमर गांव निवासी बाबूलाल (50) पुत्र बेकारू ग्रामीणों के साथ प्रयागराज में कुंभ स्नान के लिए दो मार्च को घर से गए थे। इस दौरान बाबूलाल के साथ गए अन्य ग्रामीण कुंभ स्नान कर वापस अपने घर को आ गए। परिजन बाबूलाल की खोजबीन में जुट गए।
मंगलवार दोपहर करीब एक बजे सोशल मीडिया के शोहरतगढ़ पुलिस एवं मीडिया ग्रुप में एसओ अवधेशराज सिंह ने मंडुवाडीह रेलवे स्टेशन पर पांच मार्च को ट्रेन से कटकर हुए 50 वर्षीय अज्ञात वृद्ध का फोटो अपलोड किया। ग्रुप में जुड़े सपा नेता रामू यादव ने अज्ञात व्यक्ति की शिनाख्त थाना शोहरतगढ़ क्षेत्र के ग्राम कोमर निवासी बाबूलाल पुत्र बेकारू के रूप में करते हुए इसकी सूचना मृतक के घरवालों को दी। समाचार लिखे जाने तक मृतक के घरवाले पुलिस से संपर्क कर मंडुवाडीह रेलवे स्टेशन पर मृतक के शव को लेने के लिए रवाना हो चुुके थे। बाबूलाल के तीनों पुत्र संदीप कुमार, संजीव कुमार व मनोज कुमार का रो-रोकर बुरा हाल है। एसओ अवधेशराज सिंह ने बताया कि सोशल मीडिया पर मिले पोस्ट को पुलिस ग्रुप में शेयर किया गया था। पहचान परिजनों ने कर ली है। परिजनों को मंडुवाडीह रेलवे स्टेशन पर तैनात जीआरपी पुलिस के एसआई अजीत सिंह का मोबाइल नंबर देकर शव को लेने के लिए भेजा गया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here