कागज में थाना-थाना खेल रही सिद्धार्थनगर पुलिस

हमेशा अपडेट रहने के लिए आप हमारे ऐप को डाउनलोड कीजिए..... यहां क्लिक कीजिए

सिद्धार्थनगर : एक वर्ष से पुलिस कागज में थाना-थाना खेल रही है। गत वर्ष अप्रैल माह जनपद से बढ़नी व बर्डपुर थाने का प्रस्ताव बनाकर भेजा गया है। बाद में बर्डपुर थाने के लिए भूमि कम होने से प्रस्ताव अस्वीकृत हो गया। बढ़नी की बजाय पुलिस ने दुबारा कठेला के लिए प्रस्ताव बनाकर भेजा। दूसरे थाने के लिए डिड़ई का प्रस्ताव बनाकर भेजा गया। बांसी कोतवाली की डिड़ई चौकी में भूमि की समस्या आने से उसे साड़ी कला के लिए प्रस्तावित किया। बाद में वहां से भी थाने की दूरी कम होने पर उसे पुन: डिड़ई के लिए प्रस्तावित किया गया। डुमरियागंज के मन्नीजोत में नए थाने का प्रस्ताव किया गया। बाद में पुलिस ने नए थाने के लिए रमवापुर उर्फ बजरंगनगर के लिए प्रस्तावित किया। वहां से डुमरियागंज थाने की दूरी तीन किमी होने के कारण वह मामला भी खटाई में पड़ गया। ऐसे में नए थाने के लिए फिर समस्या खड़ी हो गई है।

अप्रैल 2017 में तत्कालीन पुलिस अधीक्षक राकेश शंकर(वर्तमान में उपपुलिस महानिरीक्षक बस्ती रेंज) ने जिले में बर्डपुर, बढ़नी में नया थाना व इटवा में महिला थाने के लिए लिए प्रस्ताव भेजा था पर पुलिस मुख्यालय ने बर्डपुर के लिए आबादी व भूमि कम होने से प्रस्ताव खारिज कर दिया। ऐसे में नए सिरे से बर्डपुर के लिए प्रस्ताव भेजा गया। बढ़नी के लिए प्रस्ताव बदलकर वर्तमान पुलिस अधीक्षक डा.धर्मवीर ¨सह ने कठेला में नए थाने का प्रस्ताव बनाकर भेजा है। बाद में मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ द्वारा जनपद को दो और नए थाने की सौगात दी गई। इसके लिए प्रारंभ में डिड़ई व मन्नीजोत में थाने के लिए प्रस्ताव तैयार कराया गया, पर यहां भी डिड़ई में भूमि फाइनल न होने से उसे साड़ी कला किया। बाद में सभी की सहमति डिड़ई के लिए ही बनी तो डिड़ई के ही प्रस्ताव को अंतिम रूप दिया गया। मन्नीजोत के स्थान पर डुमरियागंज के बजरंगनगर अथवा रमवापुर को नए थाने के लिए चुना गया। पुलिस अभी इसके लिए प्रस्ताव तैयार कर ही रही थी कि मैप में जब डुमरियागंज थाने बजरंगनगर की दूरी मापी गई तो पता चला कि यह दूरी मात्र तीन किलोमीटर का है। ऐसे में उसके प्रस्ताव को खारिज कर दिया गया। अब वहां नये फायर स्टेशन का प्रस्ताव तैयाकर भेजा जा रहा है। थानों को लेकर पुलिस पूरी तरह असमंजस में है। 26 लाख की आबादी वाले इसे जिले में कुल 18 थाने हैं। महिला व एएचटीयू मिलाकर कुल 20 थाने हैं।

नए थानों के प्रस्ताव को लेकर कोई कठिनाई नहीं है। बजरंगनगर की दूरी डुमरियागंज से मात्र तीन किमी की होने के कारण वहां अब फायर स्टेशन का प्रस्ताव तैयार कराया जा रहा है। अन्य थानों के प्रस्ताव में कोई कठिनाई नहीं है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *