सूख रहे जलाशय, गहराने लगा पेयजल संकट

0
63

सिद्धार्थनगर : बढ़नीचाफा न्याय पंचायत अन्तर्गत विभिन्न ग्राम सभाओं में स्थित तालाब व पोखरे सूखने लगे हैं। फिलहाल विभाग एवं प्रशासन के पास इनमें पानी भराने की कोई योजना नहीं बन सकी है। यही वजह क्षेत्र में पेयजल संकट गहरा गया है। सर्वाधिक समस्या पशु-पक्षियों के समक्ष है। जो तेज धूप व गर्मी में बेहाल नजर आते हैं। पशुओं के लिए न तो पीने का पानी उपलब्ध है, न ही नहाने का।

ग्राम पंचायतों में लाखों रुपये खर्च करके आदर्श जलाशल बनवाया गया था, उद्देश्य था कि जल संरक्षण के साथ गर्मी के मौसम में मवेशियों के लिए पेयजल की सुविधा उपलब्ध होना। परंतु इन दिनों ज्यादातर जलाशयों की स्थिति बदहाल है। उपेक्षा के चलते न केवल ये सूख गए हैं, बल्कि आसपास गंदगी भी व्याप्त है।

नजर डालें तो न्याय पंचायत में छोटे-बड़े कुल एक दर्जन दर्जन से अधिक तालाब है। यदि इनकी स्थिति पर थोड़ा सा भी ध्यान दिया गया होता, तो शायद आज मवेशी पानी के लिए इधर-उधर भटकते न दिखाई देते। राम वृक्ष यादव, जितेन्द्र कुमार पटेल, सुकई मौर्या, राम किशन यादव, राम सजीवन, महेश यादव, खेलावन, ललित मौर्या आदि का कहना है, कि अगर समय रहते कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया, तो आगे और विकराल स्थिति मवेशियों के समक्ष पैदा हो सकती है। खंड विकास अधिकारी सुशील कुमार अग्रहरि ने कहा कि ग्राम प्रधानों से बातचीत कर समस्या का समाधान कराया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here