सो रही पत्नी की गला काट पति ने लाश नदी में फेंका

0
27

बांसी तहसील के कुड़जा गांव के रहने वाले एक कलयुगी पति ने अपनी सोई हुई बीवी का गला फावड़े से काटकर उसकी लाश को पास की नदी में फेंक दिया। इसके बाद थाने पर पहुंचकर उसने खुद को हत्यारा बताते हुए हत्या में प्रयुक्त फावड़ा सहित आत्मसमर्पण कर दिया। पुलिस अभियुक्त से पूछताछ कर रही है। इस घटना से बांसी तहसील के खेसरीस थाना क्षेत्र में सनसनी फैल गयी है।

यह अमानवीय घटना मंगलवार रात दस बजे के आस पास की है। कत्ल की वजह अभी मुलजिम ने नहीं बताया है। मुलजिम का नामदुधनाथ यादव बताया गया है। उसकी उम्र पचास साल की है। दूधनाथ ने कत्ल की वजह अब अब तक नहीं बताया है। पुलिस कत्ल की वजह को लेकर परेशान है। वह इसके पीछे अवैध सम्बंध का मामला तलाश कर रही है, लेकिन मुल्जिम जुबान नहीं खोल रहा है।

मिली जानकारी के अनुसार खेसरहा थाना क्षेत्र के कुड़जा निवासी 50 साल के दूधनाथ यादव अपनी पत्नी सुमित्रा यादव उम्र 45 साल को बीती रात लगभग दस बजे फावड़े से काट डाला और लाश को बगल की नदी में फेंक दिया। पुलिस सूत्रों के मुताबिक दूधनाथ यादव विगत दस वर्षो से अपने पत्नी से अलग से रह रहा था। इसके चार बच्चे बताये जाते है। इनमें दो बच्चे पिता के साथ थे और दो मां के साथ रहते थे। सूत्रो के मुताबिक दूधनाथ की एक बालिका अंतिमा दो साल पहले कहीं गायब हो गयी, जिसका पता आज तक नही चल पाया।

बताते हैं कि हत्या करने के बाद दूधनाथ यादव बुधवार यानी आज सुबह पांच बजे खेसरहा थाने पहुंचा और अपनी गलती को स्वीकार करते हुए पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया। इस सम्बन्ध में खेसरहा पुलिस ने दूधनाथ यादव के खिलाफ धारा 302, 211 का अभियोग पंजीकृत करते हुए हत्यारे को अपने अभिरक्षण में लेकर पूछताछ कर रही है। एसओ रणधीर मिश्र के मुताबिक मृतका सुमित्रा की लाश गोताखोरों द्वारा नदी में खोजा जा रहा है।

फिलहाल समाचार लिखे जाने तक सावित्री की लाश नही मिल पायी थी। यह घटना पूरे क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है। हत्या का कारण भी अभी तक पता नहीं चल सका है। लेकिन लोग इस कत्ल में अवैध संबंध की बू महसूस कर रहे हैं। पुलिस को उत्तीद है कि जल्द ही इस लोमहर्षक कत्ल की वजह का खुलासा हो जायेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here